viral fever – वायरल बुखार के कारण लक्षण और घरेलू उपचार
viral fever - वायरस के संक्रमण से होने वाले बुखार को वायरल फीवर कहते हैं।

viral fever – वायरल बुखार के कारण लक्षण और घरेलू उपचार

viral fever – वायरस के संक्रमण से होने वाले बुखार को वायरल फीवर कहते हैं।

viral fever – वायरल बुखार के वायरस गले में सुप्तावस्था मैं निष्क्रिय रहते हैं। ठंडे वातावरण के संपर्क में आने, फ्रिज का ठंडा पानी पीने, शीतल पेय पीने आदि से यह वायरस सक्रिय होकर हमारे प्रतिरक्षा तंत्र को प्रभावित करता है।

वायरल बुखार की जानकारी – यह बीमारी एक व्यक्ति से दूसरी व्यक्ति तक बहुत आसानी और बहुत तेजी से पहुंचती है।

इसके विषाणु सांस के द्वारा एक-दूसरे तक पहुंचते हैं।

फैलने के बाद न्यू एक-दो दिन या कुछ ही घंटों में सक्रिय हो जाता है

  1. ( Migraine ) माइग्रेन के कारण लक्षण और आयुर्वेदिक घरेलू उपचार क्या है ?
  2. दांतो के दर्द के कारण लक्षण और घरेलू उपचार क्या है?
  3. Back pain स्लिप डिस्क या कमर दर्द के कारण वह घरेलू आयुर्वेदिक उपचार क्या है?
  4. ( Insomnia ) इनसोम्निया – अनिद्रा के कारण लक्षण और घरेलू उपचार क्या है?
  5. ( Mouth ulcer ) मुंह के छालों के लक्षण कारण व आयुर्वेदिक घरेलू नुस्खे
  6. ( Obesity ) मोटापे कम करने के घरेलू वह आयुर्वेदिक नुस्खे
  7. ( Anemia )खून की कमी के कारण, लक्षण ओर घरेलू आयुर्वेदिक इलाज
  8. ( high blood pressure ) उच्च रक्तचाप के लक्षण, कारण, वह घरेलू उपचार
  9. Eye infection- आंखो का इंफेक्शन हानिकारक शुक्ष्म जीवाणु बैक्टीरिया ओर वाइरस के कारण होता है।
  10. ( Diarrhea ) के कारण, लक्षण, वह आयुर्वेदिक इलाज।

बच्चों में वायरल बुखार।

शिशुओं के लिए वायरल अधिक कष्टदायक होता है। इससे वे पीले तथा सुस्त पड़ जाते हैं।

उन्हें क्षव्सन तथा स्तनपान में कठिनाई के साथ उल्टी दस्त भी हो सकते हैं।

इसके अलावा शिशुओं में निमोनिया, कंठशोथ जैसी जटिलताएं भी पैदा हो जाती है।

किसी अन्य रोग के साथ वायरल मिलकर और भी कष्ट दाई हो जाता है।

उदाहरण के लिए यदि किसी खांसी के रोगी बच्चे को वायरल हो जाए तो उसका तंत्रिका तंत्र भी प्रभावित हो सकता है।

इसलिए पेचिश और क्षय रोग के मरीजों को इससे विशेष रूप से बचना चाहिए।

Viral fever के लक्षण – आंखे लाल होना, इस बुखार में शरीर का तापमान 101 डिग्री से 103 डिग्री या और ज्यादा भी हो जाता है।

खांसी और जुकाम, होना जोड़ों में दर्द और सूजन होना, थकना और गले में दर्द होना, नाक बहना, और बदन दर्द होना, भूख ना लगना, लेटने के बाद उठने में शरीर में कमजोरी महसूस होना, और सिर दर्द होना।

वायरल बुखार शरीर के प्रतिरक्षा तंत्र immune system की वजह से होता है।

अगर शरीर की प्रतिरक्षा क्षमता या इम्यून सिस्टम मजबूत हो तो यह बीमारी नहीं होती।

  1. ( Peptic ulcer ) पेट के अल्सर का घरेलू वह आयुर्वेदिक इलाज
  2. Chikungunya बुखार का सबसे सरल और effective homopyethi वह घरेलू उपचार
  3. Gangrene – किसी अंग के सर्ड जाने का सब से असरदार आयुर्वेदिक इलाज
  4. अब पैसे कमाए घर बैठे इन 5 ऑनलाइन तरीकों से
  5. जोड़ों के दर्द का आसान घरेलू आयुर्वेदिक उपचार कैसे करें
  6. 1947 के बाद से कांग्रेस पार्टी द्वारा सबसे बड़ा, सबसे हानिकारक दोष क्या है?
  7. भारत में आर एस एस के 10 महत्वपूर्ण योगदान
  8. Home remedies for diabetes
  9. बालों के झड़ने का इलाज, home remedies
  10. किडनी के सभी बीमारियों का आयुर्वेदिक इलाज

treatment of Viral fever – वायरल बुखार का उपाय।

viral fever - वायरल बुखार के कारण लक्षण और घरेलू उपचार क्या है
viral fever – वायरल बुखार के कारण लक्षण और घरेलू उपचार क्या है

वायरल बुखार अक्सर सामान्य बुखार ही लगता है

इसलिए बुखार होने पर डॉक्टर के पास जरूर जाना चाहिए ताकि यह पता चल सके कि वायरल बुखार है

या नहीं वायरल बुखार होने पर निम्न उपाय अपनाने चाहिए।

बुखार अगर 102 डिग्री है और दूसरा कोई खतरनाक लक्षण नहीं है तो मरीज की देखभाल घर पर ही कर सकते हैं।

मरीज के सिर पर सामान्य पानी की पट्टियां रखें।

पटिया तब तक रखें जब तक कि शरीर का तापमान कम ना हो जाए।

पटिया रखने के बाद वह गर्म हो जाती है इसलिए उसे सिर्फ 1 मिनट तक ही रखें।

अगर माथे के साथ-साथ शरीर भी गर्म है तो।

नॉर्मल पानी में कपड़ा भिगोकर निचोडे और उस कपड़े से पूरे शरीर को पोछे।

मरीज को हर 6 घंटे में एक पेरासिटामोल की गोली दे सकते हैं।

दूसरी कोई गोली डॉक्टर से पूछे बिना ना दे।

बच्चों को हर 4 घंटे में 10 मिली प्रति किलो बच्चे के वजन के अनुसार दवा दे सकते हैं।

viral fever – वायरल बुखार के कारण लक्षण और घरेलू उपचार

2 दिन तक बुखार ठीक ना हो तो डॉक्टर के पास जरूर ले जाएं।

साफ सफाई का पूरा ख्याल रखें मरीज को वायरल है तो उससे थोड़ी दूरी बनाए रखें।

और रोगी के द्वारा इस्तेमाल की गई चीजें इस्तेमाल ना करें।

  1. दिल के सभी रोगों का आयुर्वेदिक इलाज
  2. पेट के सभी रोगों के कारन और आसान घरेलु आयुर्वेदिक उपचार
  3. भारत का ऐशा कामियाब मिशन जिसने चौंका दिया पूरी दुनिया को
  4. भारत सेना के कुछ रोचक तथ्य जो कि हमें भारतीय होने पर गर्व कराते हैं
  5. Constipation or कब्ज का घरेलू आयुर्वेदिक उपचार
  6. जाने आयुर्वेद के नियम अगर जिना है सुवास्थ जीवन
  7. चीनी किशोर जिसने बेच दी किडनी iPhone के लये।

Viral fever के मरीज को पूरा आराम दे। खासकर तेज बुखार में।

आराम भी बुखार में इलाज का काम करता है। मरीज छींकने से पहले नाक और मुंह में रुमाल रखें।

इससे वायरल होने पर दूसरों को खेलेगा नहीं।

Viral fever मैं कोई एंटीबायोटिक दवाओं की भूमिका नहीं होती।

वायरल फीवर 5 से 7 दिनों में ठीक हो जाता है।

इस रोग का इलाज लक्षणों के आधार पर किया जाता है,

रोगी को पर्याप्त मात्रा में ग्लूकोज और इलेक्ट्रोलाइट लेना चाहिए।

तापमान में अचानक परिवर्तन होने या संक्रमण का दौर होने पर अधिक लोग बुखार से पीड़ित होते हैं।

ऐसा ही एक मौसमी संक्रमण वाला बुखार होता है।

वायरल बुखार viral fever इस बुखार से निपटने के लिए कुछ एंटीबायोटिक दवाओं या कुछ ओटीसी ( over-the-counter ) का सहारा लिया जाता है।

viral fever - वायरल बुखार के कारण लक्षण और घरेलू उपचार क्या है
viral fever – वायरल बुखार के कारण लक्षण और घरेलू उपचार क्या है
आप चिकित्सक के पास जाएं उससे पहले इस बुखार को घरेलू नुस्खों से भी कम या खत्म किया जा सकता है।

वायरल बुखार के लिए प्राकृतिक, सुरक्षित और आसानी से उपलब्ध है।

आइए आपको बताते हैं वायरल बुखार से निपटने के लिए कुछ प्राकृतिक और घरेलू आसान से उपाय जो कि निम्न है।

धनिया चाय – धनिए के बीज में phytonutrients होता है जो कि शरीर को विटामिन देते हैं।

और अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को भी बढ़ाते हैं।

धनिया में मौजूद एंटीबायोटिक योगिक वायरल संक्रमण से लड़ने की शक्ति देते हैं।

कैसे तैयार करें – एक गिलास पानी में एक बड़ा चम्मच धनिया के बीज को डालकर उबाल लें।

इसके बाद इसमें थोड़ा दूध और चीनी मिलाएं।

धनिए की चाय तैयार है इसे पीने से वायरल बुखार में बहुत आराम मिलता है।

डील बीज का काढा – brew of dill seed – प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने और शरीर को आराम देने के अलावा डील बीज शरीर के तापमान को कम करने में भी उपयोगी होता है।

इसका कारण इनमें flavonoids osmond pins उपस्थित होता है।

डील बीच का काढ़ा वायरल बुखार में आराम देने के साथ ही शक्तिशाली रोगाणुरोधी एजेंट का कार्य करता है।

कैसे तैयार करें – एक कप पानी में डील बीज डाले और उबाल दें।

और इसके बाद इसमें एक चुटकी दालचीनी डाल दे।

और फिर गर्म चाय की तरह पिए।

viral fever – वायरल बुखार के कारण लक्षण और घरेलू उपचार

Brew of basil leaves – तुलसी के पत्ते का काढ़ा। वायरल बुखार के लक्षण होने पर प्राकृतिक उपचार के लिए सबसे प्रभावी और व्यापक रूप से इस्तेमाल किए जाने वाली औषधि है

तुलसी के पत्ते बैक्ट्रियन विरोधी, कीटाणु नाशक, जैविक विरोधी, और कवकनाशी, *

तुलसी के पत्ते को वायरल बुखार के लिए सबसे उपयोगी बनाते हैं।

तैयार कैसे करें – आधे से एक चम्मच लोंग पाउडर को करीब 20 तुलसी के पत्तों के साथ में 1 लीटर पानी में उबालें,

पानी को तब तक उबालें जब तक कि पानी घट कर आधा ना रह जाए, इसका डे का हर 2 घंटे में सेवन करें।

viral fever - वायरल बुखार के कारण लक्षण और घरेलू उपचार क्या है
viral fever – वायरल बुखार के कारण लक्षण और घरेलू उपचार क्या है
चावल स्टाच – rice starch का इस्तेमाल।

वायरल बुखार के लिए प्राचीन काल से आम घर उपाय है चावल स्टाच हिंदी में कांजी के रूप में जाना जाता है।

यह पारंपारिक उपाय प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाता है।

यह विशेष रूप से वायरल बुखार से संक्रमित बच्चे और बड़ों के लिए प्राकृतिक पोस्टिक पेय के रूप में कार्य करता है।

कैसे तैयार करें – एक भाग चावल और आधा भाग पानी डाल के चावल को आधा पकने तक पकाएं।

इसके बाद पानी को निखार कर अलग कर ले।

और इसमें स्वाद अनुसार नमक मिलाकर गर्म गर्म ही पीऐ।

इससे वायरस बुखार में बहुत आराम मिलता है।

सूखी अदरक – अदरक स्वास्थ्य के लिए काफी लाभदायक है इसमें एंटी फेमेबल, एंटी ऑक्सीडेंट,

और वायरल बुखार के लक्षणों को कम करने के लिए analgesic गुण होते हैं।

इसलिए वायरल बुखार से पीड़ित रोगी को शहद के साथ सूखी अदरक का प्रयोग करना चाहिए।

कैसे तैयार करें – एक कप पानी में 2 मध्यम प्रकार के सूखी अदरक या सूट पाउडर को डालकर उबालें।

और दूसरे को बाल में अदरक के साथ थोड़ी हल्दी, काली, मिर्च चीनी, आदि को उबालें।

इसे दिन में चार बार थोड़ा-थोड़ा पीएं इससे वायरल बुखार में आराम मिलेगा।

viral fever – वायरल बुखार के कारण लक्षण और घरेलू उपचार

मेथी का पानी – रसोई घर में आसानी से उपलब्ध मेथी के बीज में डायेसजेनिन, सिपोनिन्स,

और एल्कलाइन जैसे औषधीय गुण शामिल हैं।

मेथी के बीज का प्रयोग अन्य बहुत सी बीमारियों में भी किया जाता है।

और यह वायरल बुखार के लिए बेहतरीन औषधि है।

कैसे तैयार करें – आधा कप पानी में एक बड़ा चम्मच मेथी के बीज भिगो दें।

और सुबह नियमित अंतराल पर इसको पिए। कुछ और राहत के लिए मेथी के बीज,

नींबू और शहद का मिश्रण तैयार करके इसका उपयोग भी किया जा सकता है।

नोट – यह केवल घरेलू उपचार है।

और इन्हें चिकित्सा सलाह के आधार पर इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

और यदि आप का बुखार नहीं उतर रहा है तो आपको डॉक्टरी सलाह लेनी चाहिए।

viral fever – वायरल बुखार के कारण लक्षण और घरेलू उपचार

Rajji Nagarkoti

My name is Abhijeet Nagarkoti . I am 31 years old. I am from dehradun, uttrakhand india . I study mechanical. I can speak three languages, Hindi, Nepali, and English. I like to write blogs and article

This Post Has 24 Comments

  1. Stepwam

    Allergic Reaction To Cephalexin [url=http://apcialisle.com/#]generic 5mg cialis best price[/url] Cialis Ipertensione Controindicazioni cheapest cialis 20mg Cialis Generico Preco

  2. Stepwam

    Low Cost Levrita [url=https://apcialisle.com/#]buy cialis professional[/url] Doxycycline Online Cheap buy cialis canada pharmacy Interaction Amoxicillin Celebrex Methocarbam

  3. JanInigue

    Apotheke Kamagra [url=http://cialibuy.com/#]cialis generic canada[/url] Cheap Deltasone cialis coupon Amoxicillin 875mg

  4. cialis pills

    Hi in that respect everyone, it’s my for the first time pay off a chitchat at this site, and paragraph is genuinely fruitful for me, maintain up
    posting these articles or reviews. http://www.cialisles.com/

  5. bandarq

    Hey there! Would you mind if I share your blog with my facebook group?
    There’s a lot of people that I think would really enjoy
    your content. Please let me know. Thanks

  6. agen bandarQ

    Hi there! This is kind of off topic but I need some guidance from an established blog.
    Is it very difficult to set up your own blog? I’m not very techincal
    but I can figure things out pretty fast. I’m thinking about making my own but
    I’m not sure where to begin. Do you have any tips or suggestions?

    Appreciate it

  7. Jerrylom

    Знаете ли вы?
    Бразильский дипломат принимал непосредственное участие в создании государства Восточный Тимор.
    Двое капитанов первого кругосветного плавания были казнены, следующего высадили на необитаемый остров.
    Подруга и последовательница Льва Толстого уже в детстве ходила босиком и отвергала нарядную одежду.
    Роден назвал свои «Врата ада» напрямую, а его соотечественник только намекнул.
    Российская учёная показала, что проект «Новой Москвы» 1923 года воспроизводил план трёхвековой давности.

    [url=http://arbeca.net/]arbeca[/url]

  8. acubretub

    como tomar cialis [url=https://cheapcialisll.com/]Cheap Cialis[/url] como tomar cialis 20 mg buy cialis canada pharmacy costo cialis da 10 mg

  9. best way to find cheap lasix in Netherlands

    cheap lasix in Washington
    best price for lasix in Toledo discount brand name lasix http://lasifurex.com/ lasix online pharmacy in France
    [url=http://lasifurex.com/][/url]

    buy lasix in Luxembourg
    online order lasix overnight delivery
    price of lasix in canada
    real lasix
    lasix professional

Leave a Reply