Sinus home remedies, साइनस के 10 घरेलू इलाज
साइनस इन्फेक्शन ज्यादातर वायरस इन्फेक्शन की वजह से होता है, लेकिन यह बैक्टीरिया या फंगल इन्फेक्शन की वजह से भी हो सकता है।

Sinus home remedies, साइनस के 10 घरेलू इलाज

( Sinus) साइनस के 10 घरेलू इलाज

Sinus home remedies,:- साइनस इन्फेक्शन ज्यादातर वायरस इन्फेक्शन की वजह से होता है, लेकिन यह बैक्टीरिया या फंगल इन्फेक्शन की वजह से भी हो सकता है। यह सर्दी-जुकाम होने पर भी हो सकता है, जिससे sinuses में सूजन होने लगती है, बलगम बनने लगता है और नाक बंद होने लगती है।

साइनस हमारी नाक के अन्दर एक खोखली और हवा से भरी हुई हड्डी होती है, जिसमें यदि कोई द्रव जमा हो जाये तो रोगाणु पनपने लगते हैं और यह रोगाणु इन्फेक्शन पैदा करने लगते हैं।

इसके आलावा अन्य परिस्थितियां जिनमें Sinus इन्फेक्शन हो सकता है वो हैं – एलर्जी, नाक जंतु (nasal polyps), पथभ्रष्ट झिल्ली (a deviated septum) और प्रदूषण या टिश्यू इर्रीटेंट्स जैसे परफ्यूम, सिगरेट, कोकीन आदि के संपर्क में आना।

Sinus इन्फेक्शन के कुछ सामान्य लक्षण हैं – सिरदर्द (headache), चेहरे में कोमलता आना (facial tenderness), दर्द या दबाव महसूस होना, नाम में उमस होना (nasal stuffiness), सफेद नाक बहना (discolored nasal discharge), गले में खराश होना (a sore throat), खांसी चलना (cough) और बुखार होना। कुछ लोगों को आगे की ओर झुकते समय अत्यधिक सेंसिटिविटी और सिरदर्द महसूस हो सकता है।

Sinus इन्फेक्शन को ठीक करने के लिए आप कुछ आसान घरेलू नुस्खे अपना सकते हैं। साथ ही, उचित निदान और उपचार के लिए अपने डॉक्टर से भी जांच करायें।

यहां पर Sinus इन्फेक्शन का इलाज करने के लिए 10 सबसे कारगर घरेलू नुस्खे दिए जा रहे हैं –

  1. इन्हें भी पढ़ें 👉 Chyawanprash, Turmeric, सर्दी में जरूर खाएं चमनपरास और हल्दी
  2. Gym mein workout से पहले क्या खाया जाए
  3. anger management गुस्से पर काबू कैसे करें
  4. Aloe vera के 10 सौंदर्य लाभ जो रखे आपको खूबसूरत beauty tips
  5. Shahnaz Husain beauty tips और 5 घरेलू उपाय
  6. drinking habit शराब छुड़ाने के उपाय, जो है आप के

1. नाक की सिंचाई (Nasal Irrigation) Sinus home remedies,

साइनस ( Sinus ) इन्फेक्शन में नाक की सिंचाई करना अत्यधिक फायदेमंद होता है, क्यूंकि इससे sinuses से बलगम और अन्य मलबा साफ हो जाता है।

  • एक गिलास गर्म पानी में एक चम्मच नमक और डेढ़ चम्मच हाइड्रोजन पेरोक्साइड मिलाएं। अब किसी बल्ब सिरिंज या किसी अन्य नाक की सिंचाई के उपकरण के जरिये इस मिश्रण से नाक की सिंचाई करें। कुछ दिनों के लिए इस उपचार को रोज एक बार करें जबतक की आपको आराम महसूस न हो। इसे दिन में एक बार से ज्यादा न करें क्यूंकि इससे म्यूकस मेम्ब्रेन में जलन हो सकती है।
  • आप गर्म पानी में एक चम्मच नमक और एक चुटकी खाने का सोडा मिलाकर भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

2. सेब का सिरका (एप्पल साइडर विनेगर)

सेब के सिरका में एंटीवायरल, एंटीबैक्टीरियल, एंटीफंगल और एंटीइन्फ्लामेट्री प्रॉपर्टीज होती हैं जो साइनस इन्फेक्शन को ठीक करने में मदद करती हैं। सर्दी-जुकाम, फ्लू या एलर्जी होने पर सेब के सिरका का सेवन करने से साइनस इन्फेक्शन को बनने से रोका जा सकता है।

  • एक कप गर्म पानी में दो चम्मच सेब का सिरका मिलाएं।
  • अब इसमें एक चम्मच शहद मिला लें और सेवन करें।
  • इस घोल का सेवन लगातार पांच दिनों के लिए रोज दिन में तीन बार करें।
  1. इन्हें भी पढ़ें 👉 Green tea benifits and sidefects ग्रीन टी पीने के फायदे और नुकसान
  2. stomach pain पेट दर्द के लिए वरदान है यह 6 औषधियों
  3. sex करें मगर सावधानी से sex tips to avoid pregnancy
  4. अंजीर है गुणों से भरपूर जानें अंजीर के फायदे Fig
  5. अदरक के फायदे और नुकसान स्वास्थ्य के लिए जानना जरूरी Ginger
Sinus home remedies, साइनस के 10 घरेलू इलाज
Sinus home remedies, साइनस के 10 घरेलू इलाज

3. लाल मिर्च (Cayenne Pepper)

Sinuses को खोलने और सुखाने में लाल मिर्च का इस्तेमाल काफी कारगर घरेलू उपचार होता है। साथ ही, लाल मिर्च रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है, सूजन को कम करती है और रक्त संचार (ब्लड सर्कुलेशन) को ठीक करती है।

  • एक कप गर्म पानी में एक चम्मच लाल मिर्च मिलाएं। दिन में दो या तीन बार इसका सेवन करें।
  • या फिर, आप लाल मिर्च और शहद को मिलाकर भी सेवन कर सकते हैं।

इनमें से कोई भी एक उपचार को कुछ दिनों के लिए रोज करें जबतक की फायदा नजर न आने लगे।

4. प्याज (Onion)

बंद नाक को खोलने, sinuses को साफ करने और सर्दी-खांसी को ठीक करने के लिए प्याज काफी लाभकारी औषधि होती है। साथ ही, इसमें सल्फर कंपाउंड होता है जो बैक्टीरिया और फंगस से लड़ता है।

  • एक प्याज को छोटे-छोटे टुकड़ों में काटकर पानी के बर्तन में डाल दें।
  • अब इस पानी को 5 मिनट के लिए उबालें और इससे निकलने वाली वाष्प को लम्बी-लम्बी सांसों से सूंघें।
  • बाद में, इस पानी को छानकर पी लें।
  • रोज इस उपचार को दिन में कई बार करें जबतक कि congestion पूरी तरह से साफ न हो जाये।
  1. इन्हें भी पढ़ें 👉 रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय -Immune Power
  2. पिंपल्स और काली मुहांसे से पाएं छुटकारा Pimples,black acne
  3. आंखों की रोशनी बढ़ाए और रखे आंखों की खूबसूरती बरकरार,eyes
  4. लहसुन खाने के फायदे जो रखें आप को स्वस्थ Garlic सेहत के लिए जरूरी
  5. भूख बढ़ाने के कुछ असरदार घरेलू नुस्खे और योग Loss of appetite

5. लहसुन (Garlic)

लहसुन एक प्राकृतिक एंटीबायोटिक होता है जो बैक्टीरिया और वायरस के द्वारा फैलाये गए इन्फेक्शन से लड़ता है। बैक्टीरिया द्वारा हुए साइनस इन्फेक्शन में लहसुन अत्यधिक फायदेमंद होता है। लहसुन में एंटीफंगल प्रॉपर्टीज भी होती हैं।

  • दो-तीन लहसुन की कलियों को काटकर उबलते पानी में डाल दें। इससे निकलने वाली वाष्प को लम्बी-लम्बी सांसों से सूंघें। ऐसा दिन में दो-तीन बार करें।
  • आप रोज दो-तीन लहसुन की कलियों का सेवन भी कर सकते हैं। साथ ही, अपने भोजन में भी प्याज, लहसुन, लाल मिर्च और सहजन को शामिल करें।

6. सहजन (Horseradish)

सहजन भी साइनस इन्फेक्शन को ठीक करने के लिए काफी लोकप्रिय घरेलू नुस्खा है, क्यूंकि यह भी नाक से बलगम को साफ करने में मदद करता है।

  • कुछ ताजा कटे हुए सहजन के टुकड़ों को अपने मुंह में डालें।
  • इसे तब तक मुंह में रखें जबतक कि इसका स्वाद पूरी तरह से खत्म न हो जाये और फिर इसे निगल लें।
  • ऐसा दिन में बार-बार करें जबतक कि इन्फेक्शन पूरी तरह से खत्म न हो जाये।
7. अदरक (Ginger)

अदरक में एंटीवायरल, एंटीबायोटिक और एंटी-इन्फ्लामेट्री प्रॉपर्टीज होती हैं जो साइनस इन्फेक्शन को ठीक करने में मदद करती हैं। अदरक में polyphenols पाए जाते हैं जो बलगम के स्राव को कम करके नार्मल स्टेज में ले आते हैं। साथ ही, यह नाक में सिलिया की मात्रा को बढ़ाते हैं। सिलिया नाक के अन्दर मौजूद बालों जैसे ढांचे होते हैं जो एलर्जी वाले कणों को फिल्टर करके साइनस इन्फेक्शन से बचाते हैं।

  1. एक ताजा अदरक को स्लाइसेस में काट लें।
  2. अब इन स्लाइसेस को एक कप पानी में डालकर 10 मिनट के लिए हल्की आंच में गर्म करें।
  3. अब इसे छान लें और ऊपर से थोड़ा सा नींबू का रस और शहद मिला लें।
  4. इस चाय का सेवन दिन में दो-तीन बार करें जबतक कि साइनस इन्फेक्शन पूरी तरह से ठीक न हो जाये।

8. अजवाइन की पत्तियों का तेल (Oil of Oregano)

अजवाइन की पत्तियों के तेल में एंटीवायरल, एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण पाए जाते हैं। साथ ही, एक एंटी-इन्फ्लामेट्री एजेंट होने के कारण यह इन्फ्लामेशन को कम करता है। यह एक एंटीऑक्सीडेंट भी होता है और रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।

  • डेढ़ कप उबलते पानी में दो बूंदे तेल की डालकर वाष्प को लें। इससे बलगम साफ होगा और बंद नाक खुल जाएगी। इस उपचार को रोज करें।
  • या फिर, एक गिलास पानी में तीन बूंदें तेल की डालकर सेवन करें। इसका सेवन रोज दो बार करें।
  • या फिर, तेल की एक बूंद को अपनी जीभ के अन्दर डाल लें।इसे भी रोज करें।
Sinus home remedies, साइनस के 10 घरेलू इलाज
Sinus home remedies, साइनस के 10 घरेलू इलाज
9. हल्दी (Turmeric)

हल्दी में एंटीबायोटिक, एंटीवायरल और एंटी-इन्फ्लामेट्री प्रॉपर्टीज होती हैं जो साइनस इन्फेक्शन और अत्यधिक बलगम के जमाव को ठीक करने में मदद करती हैं। इसमें curcumin नामक एक्टिव कंपाउंड पाया जाता है जो साइनस कैविटी में सूजन को कम करता है और वायुमार्ग को आसान बनाता है।

  • एक गिलास गर्म पानी में एक चुटकी हल्दी डालकर गरारे (gargle) करें। ऐसा दिन में दो-तीन बार करें।
  • एक गिलास गर्म दूध में एक चम्मच हल्दी मिलाकर सेवन करें। इसका सेवन रोज एक बार करें।
  • इसके आलावा, अपने भोजन में भी हल्दी को शामिल करें।
  1. इन्हें भी पढ़ें 👉
  2. सांवलापन और बेदाग स्कीन से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय skin care
  3. चर्म रोग का घरेलू आयुर्वेदिक इलाज skin care
  4. यूरिक एसिड कम करने के घरेलू उपाय, uric acid
  5. फेस मास्क और फेस टोनर बनाने के घरेलू उपाय beauty face mask,toner
  6. Jinnah की 14 मांगे आजादी से पहले 14 demands of Jinnah
  7. Muslim Reform Movement19वीं सदी में किया गया,
  8. Indian national Congress पार्टी के लक्ष्य और उद्देश्य
  9. आँवला अमृत है जाने इसके असरकारी गुणों के बारे में Indian Gooseberry
  10. हस्तमैथुन कितना अच्छा और कितना बुरा है जाने masterbation
10. भाप (Steam)

भाप लेने से बंद नाक खुलती है और बलगम कम होता है। साथ ही, यह साइनस प्रेशर और सिरदर्द कम करने में भी मदद करती है।

  • बाथरूम में हॉट शावर चालू करें और इससे निकलने वाली भाप को लम्बी-लम्बी सांसों से अन्दर लें। ऐसा 10 मिनट के लिए लगातार करते रहें। इसको रोज करने से इन्फेक्शन कम होगा।
  • आप अपने चेहरे पर कुछ मिनट के लिए एक गीली गर्म टॉवल भी रख सकते हैं। ऐसा दिन में कर बार करें और रोज करें जबतक कि साइनस पूरी तरह से ठीक न हो जाये।

साइनस इन्फेक्शन का इलाज करने के लिए ऊपर दिए गए उपचारों को नियमित अपनाएं। इसके अलावा, खूब पानी पियें जिससे बलगम पतला रहेगा और आसानी से बाहर निकल जायेगा। साथ ही, पर्याप्त आराम करने से भी रिकवरी तेज होती है।

  1. इन्हें भी पढ़ें 👉 बेस्ट कुकिंग ऑयल जो रखे आपकी सेहत का ख्याल cooking oils
  2. शहद के साथ लहसुन खाने से होते हैं सेहत से जुड़े कई फायदे
  3. अश्वगंधा के 15 फायदे जिससे शरीर रहता है स्वस्थ Withania Somnifera
  4. मानसिक और भावनात्मक रूप से कैसे स्वस्थ रहें
  5. गर्भनिरोधक गोली खाने के महिलाओं पर प्रभाव contraceptive pill
  6. गठिया के रोग का घरेलू आयुर्वेदिक इलाज Arthritis
  7. हार्ट को स्वस्थ रखने के कुछ जरूरी उपाय और खाद्य पदार्थ
  8. सफेद दाग के लक्षण कारण और आयुर्वेदिक घरेलू इलाज
  9. प्रोटीन विटामिंस और मिनरल्स के लाभ और नुकसान

Rajji Nagarkoti

My name is Abhijeet Nagarkoti . I am 31 years old. I am from dehradun, uttrakhand india . I study mechanical. I can speak three languages, Hindi, Nepali, and English. I like to write blogs and article

This Post Has 27 Comments

  1. JanInigue

    Propecia En Valencia [url=https://apcialisle.com/#]cheapest place to buy cialis[/url] Acheter Viagra Montral cialis generic cost Propecia What Is Drug Interactions

  2. viagra buy

    viagra online without prescription [url=https://viagenupi.com/#]viagra
    buy[/url] women taking viagra viagra buy how long does viagra take to work https://viagenupi.com/

  3. Woppile

    Cialis Generic Safe [url=https://cheapcialisir.com/]Cialis[/url] Clomid Apport D Aide Cialis Insurance Cover Propecia

  4. Jerrylom

    Знаете ли вы?
    Первый в мире короткоствольный револьвер (англ.)русск. с откидным барабаном стал символом кинонуара.
    Бразильский дипломат принимал непосредственное участие в создании государства Восточный Тимор.
    Команды тренера года АБА и НБА ни разу не стали в них финалистками.
    Залётная птаха занесена в перечень птиц России спустя более полувека после открытия вида.
    Иногда для поддержки экономики деньги «разбрасывают с вертолёта».

    [url=http://arbeca.net/]http://arbeca.net/[/url]

Leave a Reply