Om dhvani ke ucharan ke hote he Behtarin labh
ओंकार ध्वनि 'ॐ' को दुनिया के सभी मंत्रों का सार कहा गया है। यह उच्चारण के साथ ही शरीर पर सकारात्मक प्रभाव छोड़ती है। भारतीय सभ्यता के प्रारंभ से ही ओंकार ध्वनि के महत्व से सभी परिचित रहे हैं।

Om dhvani ke ucharan ke hote he Behtarin labh

ओंकार ध्वनि का सेहत पर होता है यह शुभ प्रभाव

Om dhvani ओंकार ध्वनि ‘ॐ’ को दुनिया के सभी मंत्रों का सार कहा गया है। यह उच्चारण के साथ ही शरीर पर सकारात्मक प्रभाव छोड़ती है। भारतीय सभ्यता के प्रारंभ से ही ओंकार ध्वनि के महत्व से सभी परिचित रहे हैं।

शास्त्रों में ओंकार ध्वनि के 100 से भी अधिक अर्थ दिए गए हैं।

यह अनादि और अनंत तथा निर्वाण की अवस्था का प्रतीक है। कई बार मंत्रों में ऐसे शब्दों का प्रयोग किया गया है जिसका कोई अर्थ नहीं होता लेकिन उससे निकली ध्वनि शरीर पर अपना प्रभाव छोड़ती है।

  1. इन्हें भी पढ़ें👉 Allergy ka gharelu upchar एलर्जी का घरेलू उपचार
  2.   5 best cooler jinhen aap le sakte hain budget mein (2020)
  3. Kurmasana ki vidhi or labh कुर्मासन के फायदे
  4.  Bhartiya sanvidhan ke Vikas ka itihas
  5. Pollution se bachne ka aasan aur gharelu upay
  6. Tolangulasana Yoga आसान विधि और आसन के लाभ
  7.  Foot odor पैरों की बदबू दूर करने के 10 उपाय
  8.  Diabetes ka gharelu ilaj मधुमेह का घरेलू इलाज
  9. Uttanasana उर्ध्वोत्तानासन आसन की विधि और लाभ
  10. Bhartiya nagrik ke Desh hit mein kartavya ko jaane
  11.  Kaan ke dard ke 10 upay कान के दर्द के उपाय
  12.  Sardar Vallabhai patel के बारे में पूरी जानकारी
  13. Vitamin B12 की कमी के लक्षण और आयुर्वेदिक उपाय
  14. Dandruff dur karne ke 10 gharelu upay डैंड्रफ के 10 घरेलू उपाय
  15. Shayanpad sanchalan yoga शयन पाद संचालन के फायदे
  16.  Fundamental Rights भारतीयों के मौलिक अधिकार को जानें
  17. Chane ke fayde चना के औषधीय गुण एवं घरेलू नुस्खे
  18.  Ayurvedic health tips, आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति को जानने

Om dhvani ke ucharan ke hote he Behtarin labh

तंत्र योग में एकाक्षर मंत्रों का भी विशेष महत्व है। देवनागरी लिपि के प्रत्येक शब्द में अनुस्वार लगाकर उन्हें मंत्र का स्वरूप दिया गया है।

उदाहरण के तौर पर कं, खं, गं, घं आदि।

इसी तरह श्रीं, क्लीं, ह्रीं, हूं, फट् आदि भी एकाक्षरी मंत्रों में गिने जाते हैं।

सभी मंत्रों का उच्चारण जीभ,होंठ, तालू, दाँत, कंठ और फेफड़ों से निकलने वाली वायु के सम्मिलित प्रभाव से संभव होता है।

इससे निकलने वाली ध्वनि शरीर के सभी चक्रों और हारमोन स्राव करने वाली ग्रंथियों से टकराती है।

इन ग्रंथिंयों के स्राव को नियंत्रित करके बीमारियों को दूर भगाया जा सकता है।

Om dhvani ke ucharan ke hote he Behtarin labh

क्या करें? ओंकार ध्वनि का सेहत पर होता है यह शुभ प्रभाव

ओम- प्रातः उठकर ओंकार ध्वनि का उच्चारण करें। इससे शरीर और मन को एकाग्र करने में मदद मिलेगी।

दिल की धड़कन और रक्तसंचार व्यवस्थित होगा।

Om नमो- ओम के साथ नमो शब्द के जुड़ने से मन और मस्तिष्क में नम्रता के भाव पैदा होते हैं।

इससे सकारात्मक ऊर्जा तेजी से प्रवाहित होती है।

ओम नमो गणेश- गणेश आदि देवता हैं जो नई शुरुआत और सफलता का प्रतीक हैं।

अत: ओम गं गणपतये नम: का उच्चारण विशेष रूप से शरीर और मन पर नियंत्रण रखने में सहायक होता है।

Om dhvani ke ucharan ke hote he Behtarin labh

शरीर में आवेगों का उतार-चढ़ाव

Om dhvani ke ucharan ke hote he Behtarin labh, Audible maditation book
CLICK THE PICTURE FOR BUY NOW 👆

शब्दों से उत्पन्न ध्वनि से श्रोता के शरीर और मस्तिष्क पर सीधा प्रभाव पड़ता है।

बोलने वाले के मुँह से शब्द निकलने से पहले उसके मस्तिष्क से विद्युत तरंगें निकलती हैं।

इन्हें श्रोता का मस्तिष्क ग्रहण करने की चेष्टा करता है।

उच्चारित शब्द श्रोता के कर्ण-रंध्रों के माध्यम से मस्तिष्क तक पहुँचते हैं।

Om dhvani ke ucharan ke hote he Behtarin labh

प्रिय या अप्रिय शब्दों की ध्वनि से श्रोता और वक्ता दोनों हर्ष, विषाद, क्रोध, घृणा, भय तथा कामेच्छा के आवेगों को महसूस करते हैं।

Om dhvani ke ucharan ke hote he Behtarin labh

अप्रिय शब्दों से निकलने वाली ध्वनि से मस्तिष्क में उत्पन्न काम, क्रोध, मोह, भय लोभ आदि की भावना से दिल की धड़कन तेज हो जाती है जिससे रक्त में ‘टॉक्सिक’ पदार्थ पैदा होने लगते हैं।

इसी तरह प्रिय और मंगलमय शब्दों की ध्वनि मस्तिष्क, हृदय और रक्त पर अमृत की तरह आल्हादकारी रसायन की वर्षा करती है।

  Om dhvani ke ucharan ke hote he Behtarin labh  Amazon yoga Audible book
Amazon yoga book BUY NOW 👆

Om dhvani ke ucharan ke hote he Behtarin labh

Rajji Nagarkoti

My name is Abhijeet Nagarkoti . I am 31 years old. I am from dehradun, uttrakhand india . I study mechanical. I can speak three languages, Hindi, Nepali, and English. I like to write blogs and article

This Post Has 21 Comments

  1. cealis

    flat permission [url=http://cialisles.com/#]cealis[/url] anywhere bell
    possibly balance cialis tadalafil 20mg highly god cealis
    then ship http://cialisles.com

  2. generic ventolin

    rather cream [url=https://amstyles.com/#]generic ventolin[/url] currently count best surgery inhalers
    online without an rx none estimate generic ventolin yeah honey https://amstyles.com/

  3. viagra for sale

    completely visual [url=http://viacheapusa.com/#]viagra for sale[/url]
    pray engineer hardly green generic viagra pills online sale weekly
    delay viagra for sale once main http://viacheapusa.com/

Leave a Reply