Hair falling & hair greying बालों के गिरना और सफेद होने के घरेलू आयुर्वेदिक इलाज
बालों के गिरना और सफेद होने के घरेलू आयुर्वेदिक इलाज (Hair falling & hair greying)

Hair falling & hair greying बालों के गिरना और सफेद होने के घरेलू आयुर्वेदिक इलाज

बाल सिर्फ चेहरे की सुन्दरता ही नहीं बढ़ाते बल्कि ये गर्मी और सर्दी से सिर की रक्षा भी करते हैं।

Hair falling & hair greying :- बाल सूर्य की अल्ट्रावायलेट किरणों को शोषित करके विटामिन और डी को संरक्षित भी करते हैं तथा इसके साथ-ही साथ उष्णता, शीतलता, और तेज हवा से हमारे सिर की सुरक्षा भी करते हैं।

जब यह बाल किसी कारण से झड़ने लगते हैं तो व्यक्ति की सुन्दरता बेकार लगने लगती हैं।

इस रोग के कारण व्यक्ति के सिर के बाल झड़ने लगते हैं।

जब रोगी व्यक्ति के बाल बहुत अधिक झड़ने लगते हैं तो वह गंजा सा दिखने लगता है।

बालों के गिरना या झड़ने का कारण :- यह रोग व्यक्ति को अधिकतर तब होता है जब व्यक्ति के शरीर में विटामिन `बी´ एवं प्राकृतिक लवणों,

लौह तत्व तथा आयोडीन की कमी हो जाती है। कई प्रकार के लम्बे रोग जैसे- टायफाइड, उपदंश, जुकाम, नजला, साइनस तथा रक्तहीनता (खून की कमी) आदि रोग होने के कारण भी व्यक्ति के बाल झड़ने लगते हैं।

किसी प्रकार के आघात या बहुत अधिक चिंता करने के कारण भी यह रोग व्यक्ति को हो जाता है।

सिर की ठीक तरीके से सफाई न करने के कारण भी बाल झड़ने लगते हैं।

शरीर में हार्मोन्स के असंतुलन के कारण भी व्यक्ति के बाल झड़ने लगते हैं।

सिर के रक्त संचारण में कमी आ जाने के कारण भी बाल झड़ने का रोग हो सकता है।

शैम्पू तथा साबुन आदि का अधिक मात्रा में उपयोग करने के कारण भी बाल झड़ने लगते हैं।

Hair falling & hair greying बालों के गिरना और सफेद होने के घरेलू आयुर्वेदिक इलाज

हेयर ड्रायर्स का अधिक प्रयोग करने के कारण भी बाल झड़ने लगते हैं।

अधिक मात्रा में दवाइयों का प्रयोग करने के कारण भी बाल झड़ने लगते हैं।

कब्ज रहना, नींद न आना तथा अधिक दिमागी कार्य करने के कारण भी बाल झड़ने का रोग व्यक्ति को हो सकता है।

बालों को सही तरीके से पोषण न मिल पाने के कारण बाल कमजोर हो जाते हैं और झड़ने लगते हैं।

वात और पित्त कुपित जब होकर रोमछिद्रों में पहुंचते हैं तो बाल झड़ने लगते हैं।

अधिक मिर्च-मसाले तथा तली हुई चीजों का सेवन करने से बाल झड़ने लगते हैं।

  1. एलोवेरा और चॉकलेट जो रखेगी आपकी सेहत और ड्यूटी बरकरार
  2. हींग और अजवाइन के फायदे जो करें रोगों को दूर
  3. बॉडी बनाने के घरेलू उपाय और बेहतरीन डाइट टिप्स
  4. गोरी स्किन सुंदर त्वचा पाने के आयुर्वेदिक घरेलू उपाय
  5. नवजात -newborn baby का कैसे करें देखभाल
  6. ठंड के मौसम की 10 बीमारियों के उपचार
  7. याददाश्त कमजोर तथा भूलने की बीमारी के घरेलू उपचार
  8. महिलाओं में माहवारी और अनियमित मासिक धर्म का इलाज
  9. गर्भावस्था मैं 4 से 9 महीनों के दौरान कौन से आहार लेने जरूरी है
  10. लीवर की समस्याओं को जड़ से दूर करें बस इन 3 योग आसन से
  11. सेक्स शक्ति को बढ़ाने के 25 घरेलू उपाय
  12. स्टैमिना और एनर्जी बढ़ाने के 10 आयुर्वेदिक घरेलू नुस्खे।
  13. पित्ताशय तथा गुर्दे और मूत्र स्थान में पथरी के घरेलू आयुर्वेदिक इलाज।
  14. थायराइड रोग के कारण लक्षण व आयुर्वेदिक घरेलू उपाय
  15. सिर की खुश्की जुएं और रूसी खत्म करने के आयुर्वेदिक घरेलू इलाज
  16. Height बढ़ाएं किसी भी उम्र में तेजी से कद बढाने के तरीके किया है।

बालों के गिरना का प्राकृतिक चिकित्सा से उपचार-

बालों के झड़ने के रोग का प्राकृतिक चिकित्सा से उपचार करने से पहले इस रोग के होने के कारणों को दूर करना चाहिए और फिर इसका उपचार प्राकृतिक चिकित्सा से करना चाहिए।

इस रोग से बचने के लिए भोजन संतुलित तथा पौष्टिक करना चाहिए।

बाल झड़ने के रोग को ठीक करने के लिए सप्ताह में एक बार फलों का भोजन करना चाहिए।

बालों को झड़ने से रोकने के लिए पत्ता गोभी, अनन्नास तथा आंवला का सेवन अधिक मात्रा में करना चाहिए।

बाल झड़ने से रोकने के लिए व्यक्ति को अपने भोजन में सब्जियां, सलाद, मौसम के अनुसार फल और अंकुरित अन्न का अधिक मात्रा में उपयोग करना चाहिए।

भोजन में आटे की रोटी, चावल, फल व हरी सब्जियों का अधिक प्रयोग करना चाहिए।

इस रोग से पीड़ित रोगी को पालक व गाजर के रस का अधिक सेवन करना चाहिए।

इससे रोगी के बाल झड़ना बहुत जल्द ही रुक जाते हैं।

रोगी व्यक्ति को अपने सिर के पसीने को सूखने नहीं देना चाहिए।

बालों को झड़ने से रोकने के लिए आंवले का अपने भोजन में अधिक उपयोग करना चाहिए तथा आंवले के मुरब्बा का सेवन करना भी बहुत लाभदायक होता है।

Hair falling & hair greying बालों के गिरना और सफेद होने के घरेलू आयुर्वेदिक इलाज

इस रोग से पीड़ित रोगी को अपने सिर को दही से धोना चाहिए और फिर नारियल के दूध से खोपड़ी की मालिश करनी चाहिए।

इसके बाद सिर को धोना चाहिए और कुछ समय बाद बथुए के पानी से सिर को धोना चाहिए।

ऐसा करने से रोगी के बाल झड़ना रुक जाते हैं।

इस रोग से पीड़ित रोगी को उंगुलियों से रात को सोने से पहले नित्य पांच मिनट तक सिर की मालिश करनी चाहिए तथा स्नान से पहले दस मिनट तक अपने शरीर पर सूखा घर्षण करना चाहिए।

ऐसा कुछ दिनों तक करने से बाल झड़ना रुक जाते हैं।

रात में मेथी के बीजों को पानी में भिगो देना चाहिए। सुबह उठने पर इन्हें पीसकर लेप जैसा बना लेना चाहिए और फिर इस लेप को बालों पर लगाना चाहिए।

ऐसा कुछ दिनों तक करने से रोगी के बाल झड़ना रुक जाते हैं।

बाल झड़ने के रोग में बेरी के पत्तों को पीसकर इसमें नींबू का रस मिलाकर सिर पर लगाने से बाल दुबारा उगने लगते हैं।

ताजे धनिये का रस या गाजर का रस बालों की जड़ों में लगाने से रोगी व्यक्ति के बाल झड़ने बंद हो जाते हैं।

सिर में जिस जगह से बाल झड़ गये हैं उस जगह पर प्याज का रस लगाने से बाल दुबारा से उग आते हैं।

गाजर को पीसकर लेप बना लें। फिर इस लेप को सिर पर लगाये और दो घंटे के बाद धो दें।

ऐसा प्रतिदिन करने से बाल झड़ने बंद हो जाते हैं।

Hair falling & hair greying बालों के गिरना और सफेद होने के घरेलू आयुर्वेदिक इलाज

  1. चेहरे पर चमक लाने के 7 आयुर्वेदिक घरेलू उपाय
  2. होम्योपैथी आयुर्वेद एलोपैथी, के लाभ ओर इनमें से कौन सा है बेहतर?
  3. कैंसर क्या है इसके लक्षण और उपचार क्या है
  4. वजन बढ़ाने के घरेलू औरआयुर्वेदिक उपाय क्या है।
  5. Pancreatiti’s अग्नाशयशोथ के लक्षण कारण और घरेलू इलाज क्या है?
  6. निमोनिया के लक्षण कारण और घरेलू उपचार क्या है?
  7. घमोरियां के कारण और उनके घरेलू इलाज क्या है?
  8. stress – तनाव से कैसे बचें और उसका घरेलू उपचार क्या है।
  9. viral fever – वायरल बुखार के कारण लक्षण और घरेलू उपचार क्या है
  10. ( Migraine ) माइग्रेन के कारण लक्षण और आयुर्वेदिक घरेलू उपचार क्या है ?
  11. दांतो के दर्द के कारण लक्षण और घरेलू उपचार क्या है?
  12. Back pain स्लिप डिस्क या कमर दर्द के कारण वह घरेलू आयुर्वेदिक उपचार क्या है?
  13. ( Insomnia ) इनसोम्निया – अनिद्रा के कारण लक्षण और घरेलू उपचार क्या है?
  14. ( Mouth ulcer ) मुंह के छालों के लक्षण कारण व आयुर्वेदिक घरेलू नुस्खे
  15. ( Obesity ) मोटापे कम करने के घरेलू वह आयुर्वेदिक नुस्खे
बालों के गिरना और सफेद होने के घरेलू आयुर्वेदिक इलाज (Hair falling & hair greying)
बालों के गिरना और सफेद होने के घरेलू आयुर्वेदिक इलाज

गंजेपन को दूर करने के लिए रात को सोते समय नारियल के तेल में नींबू का रस मिलाकर सिर की मालिश करनी चाहिए।

सूर्य तप्त नीली बोतल के तेल से सिर पर रोजाना मालिश करने से बाल गिरना रुक जाते हैं। खाना खाने के बाद सिर को उंगलियों से खुजलाना चाहिए, इससे बाल झड़ना कुछ ही दिनों में रुक जाते हैं।

बाल झड़ने के रोग को ठीक करने के लिए रोजाना 2-3 बार लगभग पांच मिनट के लिए दोनों हाथों की उंगुलियों के नाखूनों को आपस में रगड़ना चाहिए।

सुबह सूर्योदय से पहले दैनिक कार्यों से निवृति के बाद स्नान करना चाहिए।

इस प्रकार के स्नान से पेट, सिर और आंखों में गर्मी नहीं बढ़ती है।

इसके फलस्वरूप बाल झड़ना रुक जाते हैं।

बालों के गिरना से रोकने के लिए सप्ताह में कम से कम दो बार मुलतानी मिट्टी से बालों को धोना चाहिए।

इस रोग को ठीक करने के लिए खुली हवा में लंबी गहरी सांस लेनी चाहिए तथा कुछ व्यायाम भी करने चाहिए।

यदि किसी व्यक्ति को जुकाम, खांसी, तनाव, चिंता, प्रमेह आदि रोग हो गए हों तो उसे तुरंत ही इसका इलाज करना चाहिए क्योंकि ये बालों के झड़ने का कारण बन सकते हैं।

Hair falling & hair greying बालों के गिरना और सफेद होने के घरेलू आयुर्वेदिक इलाज

रोजाना रात को सोते समय 10 से 15 मिनट तक अपनी उंगलियों से बालों की जड़ों में सरसों या बादाम के तेल की हल्की-हल्की मालिश करनी चाहिए।

ऐसा करने से बाल झड़ना रुक जाते हैं तथा बाल घने तथा लम्बे होने लगते हैं।

आंवला, ब्राह्मी तथा भृंगराज को एकसाथ मिलाकर पीस लें।

फिर इस मिश्रण को लोहे की कड़ाही में फूलने के लिए रखना चाहिए और सुबह के समय में इसको मसल कर लेप बना लेना चाहिए।

इसके बाद इस लेप को 15 मिनट तक बालों में लगाएं।

ऐसा सप्ताह में दो बार करने से बाल झड़ना रुक जाते हैं तथा बाल कुदरती काले हो जाते हैं।

रात को तांबे के बर्तन में पानी भरकर रखें। सुबह के समय उठते ही इस पानी को पी लें।

इसके साथ ही आधा चम्मच आंवले के चूर्ण का सेवन भी करें।

इससे कुछ ही समय में बालों के झड़ने का रोग ठीक हो जाता है।

गुड़हल के फूल तथा पोदीने की पत्तियों को एक साथ पीसकर थोड़े से पानी में मिलाकर लेप बना लें।

इस लेप को सप्ताह में कम से कम दो बार आधे घण्टे के लिए बालों पर लगाना चाहिए।

ऐसा करने से बाल झड़ना रुक जाते हैं तथा बाल सफेद भी नहीं होते हैं।

लगभग 80 मिलीलीटर चुकन्दर के पत्तों के रस को सरसों के 150 मिलीलीटर तेल में मिलाकर आग पर पकाएं।

जब पत्तों का रस सूख जाए तो इसे आग पर से उतार लें और ठंडा करके छानकर बोतल में भर लें।

इस तेल से प्रतिदिन सिर की मालिश करने से बाल झड़ने रुक जाते हैं तथा बाल समय से पहले सफेद भी नहीं होते हैं।

कलौंजी को पीसकर पानी में मिला लें।

इस पानी से सिर को कुछ दिनों तक धोने से बाल झडना बंद हो जाते हैं तथा बाल घने भी होना शुरु हो जाते हैं।

नीम की पत्तियों और आंवले के चूर्ण को पानी में डालकर उबाल लें और सप्ताह में कम से कम एक बार इस पानी से सिर को धोएं।

ऐसा करने से कुछ ही समय में बाल झड़ना बंद हो जाते हैं।

बालों के गिरना से रोकने के लिए प्राकृतिक चिकित्सा के अनुसार कई प्रकार के आसन हैं जिनको करने से बाल झड़ने कुछ ही दिनों में ठीक हो जाते हैं।

ये आसन इस प्रकार हैं- शवासन, सर्वांगासन, योगनिद्रा, मत्स्यासन, विपरीतकरणी मुद्रा तथा शरीर के अन्य उलटने-पलटने का आसन।

इस प्रकार से प्राकृतिक चिकित्सा से उपचार करने से रोगी के बाल झड़ने की समस्या दूर हो जाती है।

Hair falling & hair greying बालों के गिरना और सफेद होने के घरेलू आयुर्वेदिक इलाज

बालों के गिरना :- इस रोग का उपचार करते समय प्राकृतिक चिकित्सा के सुझावों पर पूर्ण विश्वास रखना चाहिए और फिर इसका उपचार करना चाहिए।

जिस दिन आप प्राकृतिक चिकित्सा से इस रोग का उपचार कर रहे हों उस दिन कोई भी साबुन या शैम्पू का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

  1. ( Anemia )खून की कमी के कारण, लक्षण ओर घरेलू आयुर्वेदिक इलाज
  2. ( high blood pressure ) उच्च रक्तचाप के लक्षण, कारण, वह घरेलू उपचार
  3. Eye infection- आंखो का इंफेक्शन हानिकारक शुक्ष्म जीवाणु बैक्टीरिया ओर वाइरस के कारण होता है।
  4. ( Diarrhea ) के कारण, लक्षण, वह आयुर्वेदिक इलाज।
  5. Peptic ulcer ) पेट के अल्सर का घरेलू वह आयुर्वेदिक इलाज
  6. Chikungunya बुखार का सबसे सरल और effective homopyethi वह घरेलू उपचार
  7. Gangrene – किसी अंग के सर्ड जाने का सब से असरदार आयुर्वेदिक इलाज
  8. अब पैसे कमाए घर बैठे इन 5 ऑनलाइन तरीकों से
  9. जोड़ों के दर्द का आसान घरेलू आयुर्वेदिक उपचार कैसे करें
  10. 1947 के बाद से कांग्रेस पार्टी द्वारा सबसे बड़ा, सबसे हानिकारक दोष क्या है?
  11. भारत में आर एस एस के 10 महत्वपूर्ण योगदान
बालों के गिरना और सफेद होने के घरेलू आयुर्वेदिक इलाज (Hair falling & hair greying)
बालों के गिरना और सफेद होने के घरेलू आयुर्वेदिक इलाज
Hair falling & hair greying बालों के गिरना और सफेद होने के घरेलू आयुर्वेदिक इलाज

बालों का सफेद होना (Hair Greying) बालों के सफेद होने का कारण:-

असंतुलित भोजन तथा भोजन में विटामिन `बी´, लोहतत्व, तांबा और आयोडीन की कमी होने के कारण बाल सफेद हो जाते हैं।

मानसिक चिंता करने के कारण भी बाल सफेद होने लगते हैं।

सिर की सही तरीके से सफाई न करने के कारण भी व्यक्ति के बाल सफेद होने लगते हैं।

कई प्रकार के रोग जैसे- साईनस, पुरानी कब्ज, रक्त का सही संचारण न होना आदि के कारण बाल सफेद हो सकते हैं।

रसायनयुक्त शैम्पू, साबुन, तेलों का उपयोग करने के कारण भी बाल सफेद हो सकते हैं।

अच्छी या पूरी नींद न लेने के कारण भी बाल सफेद हो सकते हैं।

बालों को सही तरीके से पोषण न मिलने के कारण भी ये सफेद हो जाते हैं।

अधिक क्रोध, चिंता और श्रम करने पर उत्पन्न हुई गर्मी और पित्त सिर की नाड़ियों तक पहुंचकर बालों को रूखा-सूखा तथा सफेद कर देती हैं।

अनियमित खान-पान तथा दूषित आचार-विचार के कारण भी बाल सफेद हो जाते हैं।

बालों के सफेद होने पर प्राकृतिक चिकित्सा से उपचार:-

इस रोग का उपचार करने के लिए सबसे पहले रोगी व्यक्ति को संतुलित भोजन, फल, सलाद, अकुंरित भोजन, हरी सब्जियों का सेवन करना चाहिए।

रोगी को गाजर, पालक, आंवले का रस अधिक मात्रा में पीना चाहिए।

रोगी व्यक्ति को काले तिल तथा सोयाबीन का दूध पीना चाहिए।

इस रोग से बचने के लिए व्यक्ति को बादाम तथा अखरोट का सेवन अधिक मात्रा में करना चाहिए।

गाय का घी खाने में प्रयोग करने से व्यक्ति के बाल जल्दी सफेद नहीं होते हैं तथा सफेद बालों की समस्या भी दूर हो जाती है।

आंवला, ब्राह्मी तथा भृंगराज को आपस में मिलाकर पीस लें।

फिर इस मिश्रण को लोहे की कड़ाही में फूलने के लिए रख दें।

सुबह के समय इसको मसलकर लेप बना लें फिर इसके बाद 15 मिनट तक इसे बालों में लगाएं।

इस प्रकार से उपचार सप्ताह में 2 बार करने से बाल सफेद होना बंद होकर कुदरती काले हो जाते हैं।

Hair falling & hair greying बालों के गिरना और सफेद होने के घरेलू आयुर्वेदिक इलाज

गुड़हल के फूल तथा पोदीने की पत्तियों को एकसाथ पीसकर थोड़े से पानी में मिलाकर लेप बना लें।

फिर इस लेप को अपने बालों पर सप्ताह में कम से कम दो बार आधे घण्टे के लिए लगाएं।

ऐसा करने से सफेद बाल काले होने लगते हैं।

चुकन्दर के पत्तों का लगभग 80 मिलीलीटर रस सरसों के 150 मिलीलीटर तेल में मिलाकर आग पर पकाएं।

फिर जब पत्तों का रस सूख जाए, तो आग पर से उतार लें।

फिर इसे ठंडा करके छानकर बोतल में भर लें।

इस तेल से प्रतिदिन सिर की मालिश करने से बाल झड़ना रुक जाते हैं और समय से पहले सफेद नहीं होते हैं।

इससे बालों की कई प्रकार की समस्याएं भी दूर हो जाती हैं।

बादाम के तेल तथा आंवले के रस को बराबर मात्रा में मिला लें। इस तेल से रात को सोते समय सिर की मालिश करने से बाल सफेद होना बंद हो जाते हैं।

रात के समय तुलसी के पत्तों को पीसकर और इसमें आंवले का चूर्ण मिलाकर पानी में भिगोने के लिए रख दें।

सुबह के समय में इस पानी को छानकर इससे सिर को धो लें।

ऐसा करने से कुछ ही दिनों में सफेद बाल काले हो जाते हैं।

आंवले के चूर्ण को नींबू के रस में मिलाकर बालों में लगाने से बाल काले, घने तथा मजबूत हो जाते हैं।

बाल सफेद होने पर सूर्यतप्त आसमानी तेल से सिर की मालिश करने से बाल सफेद होना बंद हो जाते हैं।

बालों को सफेद होने से रोकने के लिए सबसे पहले रोगी व्यक्ति को मानसिक दबाव तथा चिंता को दूर करना चाहिए
बालों के गिरना और सफेद होने के घरेलू आयुर्वेदिक इलाज (Hair falling & hair greying)
बालों के गिरना और सफेद होने के घरेलू आयुर्वेदिक इलाज
  1. Home remedies for diabetes
  2. बालों के झड़ने का इलाज, home remedies
  3. किडनी के सभी बीमारियों का आयुर्वेदिक इलाज
  4. दिल के सभी रोगों का आयुर्वेदिक इलाज
  5. पेट के सभी रोगों के कारन और आसान घरेलु आयुर्वेदिक उपचार
  6. भारत का ऐशा कामियाब मिशन जिसने चौंका दिया पूरी दुनिया को
  7. भारतीय सेना के कुछ रोचक तथ्य जो हमें भारतीय होने पर गर्व करते हैं
  8. Constipation के घरेलू इलाज
  9. जाने आयुर्वेद के नियम अगर जिना है सुवास्थ जीवन
  10. चीनी किशोर जिसने बेच दी किडनी iPhone के लये।

और फिर इसका उपचार प्राकृतिक चिकित्सा से करना चाहिए।

कई प्रकार के योगासन (सर्वांगासन, मत्स्यासन, शवासन तथा योगनिद्रा) प्रतिदिन करने से रोगी व्यक्ति को बहुत अधिक लाभ मिलता है और उसके बाल सफेद होना रुक जाते हैं।

Hair falling & hair greying बालों के गिरना और सफेद होने के घरेलू आयुर्वेदिक इलाज

भोजन करने के बाद खोपड़ी को खुजलाते हुए कंघी करने से बहुत अधिक लाभ मिलता है।

बालों को झड़ने तथा सफेद होने से बचाने के लिए कुछ चमत्कारी बालों का तेल बनाने का तरीका-

सबसे पहले एक लोहे का बर्तन ले लें। इसके बाद इसमें 1 लीटर नारियल का तेल, 100 ग्राम आंवला, रीठा, शिकाकाई पाउडर, 1 बड़ा चम्मच मेंहदी, 2 चम्मच रत्नजोत पाउडर को एकसाथ मिलाकर सूर्य की रोशनी में कम से कम एक सप्ताह तक रखें।

फिर इसके बाद इसे धीमी आग पर उबालें तथा उबलने के बाद इसको छानकर इसमें नींबू का रस तथा कपूर मिलाकर बोतल में भर कर रख दें।

इसके बाद प्रतिदिन इस तेल को बालों में लगाएं। ऐसा करने से बाल लम्बे घने और काले हो जाते हैं।

आधा किलो सूखे आंवले को कूटकर साफ कर लें तथा इसके बाद मुलैठी को कूटकर आपस में मिला लें।

फिर इसमें आठ गुना पानी मिलाकर किसी बर्तन में इसे फूलने के लिए छोड़ दें।

फिर सुबह के समय में इसे धीमी आग पर उबालने के लिए रख दें।

इस मिश्रण को तब तक गर्म करना चाहिए, जब तक कि इसका पानी आधा न रह जाए।

Hair falling & hair greying बालों के गिरना और सफेद होने के घरेलू आयुर्वेदिक इलाज

फिर इसे आग पर से उतार लें और इसे अच्छी तरह से मिलाकर छान लें।

Eske इसके बाद फिर से इस मिश्रण को तेल में मिलाकर आग पर गर्म करें तथा इसे तब तक गर्म करें जब तक कि इसका सारा पानी जल न जाये। बाद इसे आग से उतार लें और इसमें इच्छानुसर सुगन्ध तथा रंग मिलाकर किसी बोतल में भर लें।

इसके बाद प्रतिदिन इस तेल को बालों पर लगाएं।

इस तेल को लगाने से सिर का दर्द, बालों का सफेद होना, बालों का झड़ना रुक जाता है तथा रोज इसके उपयोग से बाल लम्बे, घने तथा काले हो जाते हैं।

इस तेल से सिर की खुश्की भी दूर हो जाती है।

Hair falling & hair greying बालों के गिरना और सफेद होने के घरेलू आयुर्वेदिक इलाज

250 ग्राम घिया (लौकी) को लेकर अच्छी तरह से पीस लें और फिर इसे महीन कपड़े से छानकर इसका सारा पानी बाहर निकाल लें।

इसके बाद इसमें 250 मिलीलीटर नारियल का तेल मिलाकर धीमी आंच पर पकाएं।

जब तक तेल थोड़ा गर्म न हो जाए तब तक इसमें लौकी का निकाला हुआ पानी धीरे-धीरे डालते रहें और इसे उबलने दें।

जब सारा पानी जल जाए तब इसको आग पर से उतार लें।

इस तेल को ठंडा करके बोतल में भर दीजिए।

इस तेल को प्रतिदिन बालों पर लगाने से बालों की जड़ें मजबूत होती हैं। इस तेल के उपयोग से सिर को ठंडक मिलती है। इस तेल को रोजाना इस्तेमाल करने से व्यक्ति की याद्दाश्त तेज होती है। पैर के तलवों में जलन होने पर इस तेल से पैर के तलवों की मालिश करने से बहुत आराम मिलता है। इस प्रकार से रोगी का इलाज प्राकृतिक चिकित्सा से करने से रोगी के बालों से सम्बन्धित सारे रोग ठीक हो जाते हैं।

Rajji Nagarkoti

My name is Abhijeet Nagarkoti . I am 31 years old. I am from dehradun, uttrakhand india . I study mechanical. I can speak three languages, Hindi, Nepali, and English. I like to write blogs and article

This Post Has 32 Comments

  1. Stepwam

    Hydrochlorothiazide Mastercard Discount No Script Needed [url=http://apcialisle.com/#]cheap cialis online[/url] What Is Keflex Used To Treat buy cialis Best Buy On Cialus

  2. Stepwam

    Cephalexin For Dog No Prescriptions [url=http://apcialisle.com/#]Buy Cialis[/url] Kamagra Deutschland Forum generic cialis from india Levaquin Bacterial Infections

  3. Stepwam

    Cialis 20 Mg [url=https://apcialisle.com/#]buy cialis online reviews[/url] Amoxicillin Used For Dogs Cialis Cialis Generika 40mg

  4. I do reckon all of the ideas you’ve presented on your mail.
    They’re identical convincing and volition definitely exercise. Nonetheless, the
    posts are really abbreviated for newbies. May simply you please
    sustain them a piece from subsequent clip? Give thanks you for
    the carry. http://www.cialisles.com/

  5. Woppile

    Amoxicillin Dosage In Chicken Feed [url=https://abuycialisb.com/]Buy Cialis[/url] Viagra Vergleich Cialis Levitra free trial cialis online Propecia Es Bueno

Leave a Reply