Garbh nirodhak ayurvedic jadi butiyan,न ही कोई साईड इफेक्ट
ये जड़ीबूटियां है देसी गर्भनिरोधक, न कोई अनचाहा गर्भ, न ही कोई साइड इफेक्‍ट्स अनचाही प्रेगनेंसी से बचने के लिए आजकल लोग कंट्रासेप्टिव पिल्स और कंडोम का इस्‍तेमाल करते है। लेकिन इनके इस्‍तेमाल को लेकर महिलाओं के दिलोदिमाग में कई वहम भी सवार रहते है।

Garbh nirodhak ayurvedic jadi butiyan,न ही कोई साईड इफेक्ट

ये जड़ीबूटियां है देसी गर्भनिरोधक, न कोई अनचाहा गर्भ, न ही कोई साइड इफेक्‍ट्स

Garbh nirodhak ayurvedic jadi butiyan:- अनचाही प्रेगनेंसी से बचने के लिए आजकल लोग कंट्रासेप्टिव पिल्स और कंडोम का इस्‍तेमाल करते है। लेकिन इनके इस्‍तेमाल को लेकर महिलाओं के दिलोदिमाग में कई वहम भी सवार रहते है। जैसे दवाईयों के साइडइफेक्‍ट्स और कंडोम से एलर्जी। कई तरह की दिक्‍कतें तो है इन सबके साथ। आजकल मार्केट में इमरजेंसी पिल्‍स भी मिलने लगी है जो सेक्‍स 

  1. इन्हें भी पढ़ें 👉 इन्हें भी पढ़ें👉  Uttanpadasana yoga ki vidhi aur karne ke Labh
  2.  Chandrashekhar Azad, ki Desh bhakti sahas ke bare me jane
  3. Arajak or Revolutionary Apradh adhiniyam, 1919,
  4. Bedaag skin paane ke gharelu nuskhe, बेदाग स्किन
  5. All india muslim league party, पार्टी की स्थापना और भुमिका
  6. Vajrasana aur matsyasan yog Karne ka Tarika aur iske Labh
  7. Chehre ke til se paye minton mein chhutkara, beauty tips
  8. Diet plan for adults, वयस्क को प्रीति दीन कितना आहार लेना चाहिए
  9. tvacha ki khubsurti Pai bahut kam samay
  10. All india muslim league party, पार्टी की स्थापना और भुमिका
  11. Vajrasana aur matsyasan yog Karne ka Tarika aur iske Labh
  12. Chehre ke til se paye minton mein chhutkara, beauty tips
  13. Diet plan for adults, वयस्क को प्रीति दीन कितना आहार लेना चाहिए
  14. tvacha ki khubsurti Pai bahut kam samay mein beauty tips
  15.  शहद के साथ लहसुन खाने से होते हैं सेहत से जुड़े कई फायदे
  16. अश्वगंधा के 15 फायदे जिससे शरीर रहता है स्वस्थ Withania Somnifera
  17. Calcium deficiency, कैल्शियम की कमी के लक्षण और इलाज

Garbh nirodhak ayurvedic jadi butiyan,न ही कोई साईड इफेक्ट

के 72 घंटे बाद अनचाहे प्रेगनेंसी को रोकने के लिए ली जाती है। अगर बार-बार इसका इस्तेमाल किया गया तो इसके बहुत साइड इफेक्ट होने लगते है। यानि इसके कारण पीरियड्स होने में प्रॉबल्म, सेक्स की इच्छा में कमी और मनोवैज्ञानिक आचरण में भी प्रॉबल्म होता है। अगर आप इन दवाईयों के साइड इफेक्ट्स से बचना चाहते हैं तो आयुर्वेदिक कंट्रासेप्टिव पिल्‍स लेकर अनचाही प्रेगनेंसी से बच सकती है।

आज हम आपको कुछ ऐसी आयुवेर्दिक जड़ी बूटियों के बारे में बताने जा रहे जो गर्भनिरोधक दवाईयों की तरह काम करती हे और इसके कोई साइड इफेक्‍ट्स भी नहीं है।

  1. इन्हें भी पढ़ें  मानसिक और भावनात्मक रूप से कैसे स्वस्थ रहै
  2. र्भनिरोधक गोली खाने के महिलाओं पर प्रभाव contraceptive pill
  3. गठिया के रोग का घरेलू आयुर्वेदिक इलाज Arthritis
  4. हार्ट को स्वस्थ रखने के कुछ जरूरी उपाय और खाद्य पदार्थ
  5. सफेद दाग के लक्षण कारण और आयुर्वेदिक घरेलू इलाज
  6. प्रोटीन विटामिंस और मिनरल्स के लाभ और नुकसान
  7. बवासीर भगंदर और नासूर भगंदर के घरेलू आयुर्वेदिक उपचार
  8. मांसपेशियों में खिंचाव, Strain in the muscles शरीर के ढांचे संबंधी रोगों के आयुर्वेदिक इलाज
  9. Zero calorie food khao charbi ghatao. यह है 10 लिस्ट

नीम का तेल:-

नीम का तेल भी पुरुष और महिला दोनों के लिए गर्भनिरोधक समाधान के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। मार्केट में नीम का तेल आसानी से मिल जाएगा। महिलाओं को सेक्‍स से पहले इस योनि में लगाना चाहिए ताकि शुक्राणु आसानी से प्रवेश नहीं कर सकें। पुरुषों को इसकी कुछ बूंदे गटक जानी ताकि वो कुछ समय के लिए फर्टिलिटी की सम्‍भावनाओं को कम कर सकें।

 पपीते का बीज:- Garbh nirodhak ayurvedic jadi butiyan,

पपीते का बीज एक दम सुरक्षित और प्रभावी गर्भनिरोधक है। इसका नतीजा देखने के लिए एक दिन में एक चम्‍मच पपीते का बीज खाइए और इसका चमत्‍कार देखिए। यह एक पुराना और प्रभावी नुस्‍खा है। लेकिन इसे अपना असर दिखाने में तीन महीनें लगेंगे।

Garbh nirodhak ayurvedic jadi butiyan,न ही कोई साईड इफेक्ट
Garbh nirodhak ayurvedic jadi butiyan,न ही कोई साईड इफेक्ट

अरंडी का बीज

अरंडी किसी भी हर्बल स्टोर में आसानी से पाया जाता है। ये तकनीक कई प्रांतों में इस्तेमाल किया जाता है। यहां तक कि विज्ञान भी इसको प्रामाणिकता देती है। इसके लिए आप ताजे अरंडी के बीज को फोड़े। उसमें से एक सफेद रंग का बीज निकलेगा। सेक्स करने के 72 घंटे में लेने से ये इमरजेंसी पिल्स के रूप में काम करता है।

 सूखा पुदीना का पत्ता Garbh nirodhak ayurvedic jadi butiyan,

आयुर्वेद के अनुसार पुदीना का पत्ता गर्भनिरोधक के रूप में काम करता है। सेक्स करने के तुरन्त बाद गुनगुने गर्म पानी में एक चम्मच पुदीने के पत्ते मिलाकर लेने से ये नैचुरल गर्भनिरोधक के रूप में काम करता है।

जपाकुसुम

जपाकुसुम में बेन्जीन होता है जो गर्भनिरोधक के रूप में काम करता है। इस फूल का पेस्ट बनाकर इसको लेने से ये असरदार रूप में प्रेगनेंसी को रोकने में मदद करता है।

 विडंगा-

विडंगा पेपरकॉर्न की तरह दिखने में लगता है। ये 83 प्रतिशत तक अनचाहे प्रेगनेंसी को रोकने में मदद करता है।

तालिस्पात्र Garbh nirodhak ayurvedic jadi butiyan,

ये आयुर्वेदिक हर्ब तालिस्पात्र एबीस विबियाना के नाम से जाना जाता है और इसको ओरल कंट्रासेप्टिव के रूप काम करता है। ये हर्ब अंडे को गर्भाशय के दिवार में चिपकने नहीं देता है और प्रेगनेंट होने की संभावना को कम करता है।

 अदरक

ये सूखा अदरक घरेलू नुस्खा है। इसका एन्टी इंफ्लैमटोरी इफेक्ट पीरियड को ठीक तरह से प्रवाहित करने में मदद करता है। इसके साथ ये कंट्रासेप्टिव पिल्स के रूप में भी काम करता है। Garbh nirodhak ayurvedic jadi butiyan,

Rajji Nagarkoti

My name is Abhijeet Nagarkoti . I am 31 years old. I am from dehradun, uttrakhand india . I study mechanical. I can speak three languages, Hindi, Nepali, and English. I like to write blogs and article

This Post Has 30 Comments

  1. JerryVAb

    doonlibrary.in cialis has stopped workingcialis due giorni consecutivi Tadalafil sintomas do cialiscialis problemi dogana Generic cialis for sale china

  2. Jerrylom

    Знаете ли вы?
    Акадийка много раз становилась первой.
    Врач на карантине спел созданную для фильма песню Высоцкого «Давно смолкли залпы орудий».
    Фиктивно отменить рабство в Камбодже её короля заставили французские колонизаторы.
    Член Зала хоккейной славы готов был играть где угодно, лишь бы не переходить в тренеры.
    Возможно, что американцы уже в 1872 году вмешались в канадские выборы.

    [url=http://arbeca.net/]arbeca[/url]

Leave a Reply