Blueberry ब्लूबेरी के औषधिय फायदे और नुकसान को जाने
ब्लूबेरी Blueberry for Health ब्लूबेरी को नीलबदरी व अन्य नामों से भी जाना जाता है, जो एक स्वादिष्ट फल होने के साथ- साथ कई औषधीय गुणों से भी भरपूर है। छोटे व गोल आकार के ब्लूबेरी नीले रंग के होते हैं।

Blueberry ब्लूबेरी के औषधिय फायदे और नुकसान को जाने

Blueberry ब्लूबेरी के औषधिय फायदे और नुकसान को जाने

Blueberry for Health ब्लूबेरी को नीलबदरी व अन्य नामों से भी जाना जाता है, जो एक स्वादिष्ट फल होने के साथ- साथ कई औषधीय गुणों से भी भरपूर है। छोटे व गोल आकार के ब्लूबेरी नीले रंग के होते हैं। इनका स्वाद खट्टा- मीठा होता है। इसमें कई प्रकार के पोषक तत्व और एंटी-ऑक्सीडेंट होने के कारण स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद माना जाता है, जो हाइपरटेंशन, मधुमेह, ब्लड प्रेशर, मोटापे व अन्य बीमारियों में लाभकारी सिद्ध होता है।

ब्लूबेरी के औषधिय फायदे और नुकसान को जाने

ब्लूबेरी में कैलोरी, सोडियम, पोटैशियम, कार्बोहाइड्रेट, मैग्नेशियम, कैल्शियम, आयरन, विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन डी, विटामिन बी6, विटामिन बी12 व अन्य पोषक तत्व होते हैं। इसलिए यह कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से भी बचाता है।

इसका नियमित रूप से सेवन करने से कई खतरनाक बीमारियों से सुरक्षित रहते हैं।

ब्लूबेरी में एंटीऑक्सीडेंट गुण पाया जाता है, जो त्वचा की सभी समस्याओं को दूर करता है। ब्लूबेरी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट, कीटाणुओं को नष्ट कर कोशिकाओं को नुकसान होने से बचाता है। ब्लूबेरी हानिकारक एचडीएल कोलेस्ट्रॉल को भी संतुलित रखता है, जिससे झाइयों और झुर्रियों की समस्या नहीं होती।

फायदे
इन समस्याओं में उपयोगी है ब्लूबेरी (Benefits of Blueberry Herb in Hindi)

मोटापा (Obesity):- ब्लूबेरी का नियमित सेवन करने से पेट के पास जमा चर्बी दूर होती है। दरअसल ब्लूबेरी में कैलोरी की मात्रा बहुत कम होती है और इसमें मौजूद फाइबर मोटापे या अत्यधिक चर्बी को नियंत्रण में रखता है। कई रिसर्च से यह साबित हुआ है कि ब्लूबेरी खाने से शरीर में शुगर का स्तर कम होता है, जो मोटापे की समस्या को पनपने नहीं देता।

मधुमेह (Diabetes):- मधुमेह, शुगर या शक्कर की बीमारी पर नियंत्रण के लिए ब्लूबेरी का सेवन बहुत जरूरी माना गया है। जर्नल ऑफ न्यूट्रीशन के अनुसार, ब्लूबेरी के पत्तों में एंथोसियानीडीनस नामक तत्व पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है, जो मेटाबॉलिज्म प्रक्रिया को संतुलित कर ग्लूकोज को शरीर के सभी भागों में सुचारु रूप से पहुंचाता है। जिसके फलस्वरूप खून में शुगर संतुलित रहती है, और मधुमेह जैसी बीमारी से बचाव होता है।

तनाव (Stress):- मानसिक तनाव जैसी परेशानी में ब्लूबेरी बहुत फायदेमंद साबित हो सकती है। ब्लूबेरी में बायो-एक्टिव पदार्थ “एंथोकायनिंस” का गुण होता है, जो मानसिक तनाव को दूर करने में आपकी मदद कर सकता है। हफ्ते में दो से तीन बार मुट्ठी भर ब्लूबेरी खाने से तनाव से छुटकारा मिलता है।

Blueberry ब्लूबेरी के औषधिय फायदे और नुकसान को जाने

Blueberry ब्लूबेरी के औषधिय फायदे और नुकसान को जाने
Blueberry ब्लूबेरी के औषधिय फायदे और नुकसान को जाने

दिल की बीमारी (Heart Disease):- अमेरिकी कृषि विभाग की शोध के अनुसार ब्लूबेरी खाने से हार्ट अटैक की संभावनाएं कम होती है। ब्लूबेरी धमनियों में खून का थक्का बनने नहीं देता, जो दिल के दौरे की मुख्य वजह होता है।

ब्लूबेरी में फ्लेवोनॉयड के गुण भी पाये जाते हैं, जो दिल से जुड़ी समस्याओं को दूर करता है।

कैंसर (Cancer):- ब्लूबेरी के सेवन से कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से भी बचा जा सकता है। ब्लूबेरी में एलेगिक एसिड तथा टेरोस्टिलबीन नामक तत्व होता है जो कैंसर से बचाव करने में सहायक होता है।

आंखों की बीमारी (Eye Problems):- ब्लूबेरी में पाया जाने वाला एंथोसाइनोसाइड्स नामक पोषक तत्व आंखों की रोशनी बढ़ाता है और आंखों से जुड़ी सभी समस्याओं से भी बचाता है।

इसके अतिरिक्त यह मोतियाबिंद और मायोपिया जैसी बीमारियों में भी लाभकारी सिद्ध होता है।

याददाश्त (Memory):बढ़ती उम्र में याददाश्त का कमजोर होना आम बात है, लेकिन यदि आप ब्लूबेरी का सेवन करते हैं, तो आपकी याददाश्त कभी कमजोर नहीं हो सकती।

इसलिए याददाश्त बढ़ाने के लिए ब्लूबेरी का सेवन बेहद जरूरी है।

पाचन (Digestion):- ब्लूबेरी फाइबर का बहुत अच्छा स्रोत माना जाता है, जिससे कब्ज और पाचन समस्याएं दूर रहती हैं।

इसमें पाये जाने वाले मिनरल और अन्य पोषक तत्व पाचन शक्ति को मजबूत बनाते हैं।

सावधानी
ब्लूबेरी के दुष्प्रभाव (Side Effects of Blueberry)

शुगर की कम मात्रा (hypoglycemia):- ब्लूबेरी, खून में शक्कर (शर्करा) की मात्रा को कम करने में बहुत मदद करता है। लेकिन कई बार इसके अधिक सेवन से या लगातार सेवन से खून में शुगर यानी शक्कर की मात्रा जरूरत से ज्यादा कम हो जाती है, जो रोगी के लिए खतरनाक साबित हो सकती है।

हैपेटाइटिस ए (Hepatitis- A):- न्यू ज़ीलैंड में किए गए शोध के अनुसार, ब्लूबेरी के अत्यधिक सेवन या कच्चे ब्लूबेरी का सेवन करने से हैपेटाइटिस ए जैसी गंभीर समस्या हो सकती हैं।

इस रोग की पुष्टि डीएनए (DNA) से प्राप्त वायरस से हुई है।

इन्हें भी पढ़ें 👇
  1. Historical places of India भारत के ऐतिहासिक स्थल
  2. Papita पपीता के आयुर्वेदिक औषधियां फायदे
  3. Vedas हिन्दू वेदों के प्रकार, इतिहास, वेद-सार और भी बहोत कुछ जानें
  4. Giloy ke fayde स्वाइन फ्लू, डेंगू और चिकनगुनिया के लिए रामबाण है
  5. Egg peel अंडे के छिलके से पाए खूबसूरत त्वचा जाने इस्तेमाल का तरीका
  6. Vrschikasana yoga करने का सही तरीका लाभ और सावधानी
  7. Chaval ke face pack se 2 din me hoga rang gora
  8. Aromatherapy बेहतर यौन जीवन के लिए अरोमाथेरेपी
  9. Hindu dharmgranth and culture हिन्दू धर्मग्रन्थ और हिन्दू संस्कृति
  10. Hindu dharm हिंदू धर्म का इतिहास और मुख्य सिद्धांत
  11. Til khane ke fayde तिल खाने के औषधीय लाभ
  12. Virasana yoga वीरासन योग करने का तरीका और लाभ
  13. Bakasana yoga बकासन करने का तरीका और लाभ
  14. Sadness उदासी दूर करना चाहते हैं, तो इन 5 चीजों से बनाएं दूरी
  15. Pudina ke fayde पुदीने के फायदे और इसके औषधीय गुण
  16. Weight loss घर बैठे करें वजन घटाने वाले व्यायाम
  17. Body banaye keval 30 din me or rahe fit complete guide
  18. Healthy upvas कैसे करें हेल्दी उपवास जानिए 10 डाइट टिप्स
  19.  Kurmasana yoga कुर्मासन का लाभ और विधि
  20. Alcohol massage अल्कोहल मसाज के 5 बेहतरीन फायदे
  21. aitra Navratri vrat चैत्र नवरात्रि व्रत में कैसे रखे अपना ख्याल
  22. Suriya namaskar or om योग का अंग है ‘ॐ’ और ‘सूर्य नमस्कार’
  23. Nasal congestion बंद नाक के 10 घरेलू इलाज
  24. Kali khansi ke gharelu ilaj काली खांसी के 10 घरेलू इलाज
  25. 5 vegetables Jo sehat or sundarta ko nikharati he
  26.  Alsi bachati he kai bimariyon se jane alsi ke 10 fayde
  27. Best smartphones under 15 to 25000 in hindi 2020
  28. Om dhvani ke ucharan ke hote he Behtarin labh
  29.  Allergy ka gharelu upchar एलर्जी का घरेलू उपचार
  30.   5 best cooler jinhen aap le sakte hain budget mein (2020)

Rajji Nagarkoti

My name is Abhijeet Nagarkoti . I am 31 years old. I am from dehradun, uttrakhand india . I study mechanical. I can speak three languages, Hindi, Nepali, and English. I like to write blogs and article

Leave a Reply